• होम
  • नेहरूः एक प्रतिबिंब
  • नेहरू का सचित्र जीवनवृत्त

नेहरू का सचित्र जीवनवृत्त

1889 :
  • 14 नवम्बर को इलाहाबाद में मोतीलाल और स्वरूपरानी नेहरू की संतान के रूप में जन्म।
1905 - 07 :
  • हैरो स्कूल, मिडलसेक्स, यू.के. (यूनाइटेड किंगडम)।
1907 - 10 :
  • ट्रिनिटी कॉलेज, यू.के.।
1910 - 12 :
  • इनर टैम्पल, लंदन, यू.के.।
1912 :
  • भारत वापस लौटे। इलाहाबाद उच्च न्यायालय में वकालत शुरू की।
1916 :
  • 8 फरवरी को कमला कौल से विवाह किया।
1917 :
  • होम रूल लीग में शामिल हुए। 19 नवम्बर को बेटी इंदिरा का जन्म।
1918 :
  • होम रूल लीग के सचिव बने।
1919 :
  • मोतीलाल नेहरू के साथ मिल कर ‘इंडिपेंडेंट’ समाचार पत्र शुरू किया।
1920 :
  • असहयोग आन्दोलन में शामिल हुए।
1921 :
  • 6 दिसम्बर को वालंटियर आन्दोलन में भाग लेने और भारत में प्रिंस ऑफ वेल्स की भारत यात्रा का बहिष्कार करने का आह्वान करने के लिए गिरफ्तार किए गए।
1922 :
  • 3 मार्च को रिहा किए गए। कपड़ों की दुकानों का घेराव करने के लिए 3 मार्च को पुनः गिरफ्तार किए गए।
1923 :
  • 26 जनवरी को रिहा किए गए।
  • अप्रैल में इलाहाबाद नगरपालिका मंडल के अध्यक्ष चुने गए (जनवरी, 1925 में इस पद से त्यागपत्र दिया)।
  • 19 सितम्बर को नाभा राज्य में प्रवेश प्रतिबंधित करने वाले आदेश का विरोध करने पर गिरफ्तार किए गए। (6 अक्तूबर को रिहा किए गए)
  • अक्तूबर में बनारस में संयुक्त प्रांत (यूनाइटेड प्रॉविंस) के सम्मेलन की अध्यक्षता की।
  • दिसम्बर में हिंदुस्तानी सेवा दल की स्थापना की।
  • भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के महासचिव रहे, 1923-5
1926 - 27 :
  • यूरोप और ब्रिटेन की यात्रा की। 10 फरवरी, 1927 को ब्रसेल्स में पराधीन देशों के सम्मेलन में भाग लिया।
  • नवम्बर में सोवियत संघ की यात्रा पर गए। दिसम्बर में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के मद्रास अधिवेशन में ‘स्वतंत्रता प्रस्ताव’ प्रस्तुत किया।
  • भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के महासचिव, 1927-9
1928 :
  • अप्रैल मं पंजाब प्रांतीय सम्मेलन की अध्यक्षता की।
  • अगस्त में इंडिपेंडेंस फॉर इंडिया लीग की स्थापना की।
  • अखिल बंगाल छात्र सम्मेलन की अध्यक्षता की।
  • साइमन कमीशन के बहिष्कार में सक्रिय भूमिका निभाई; नवम्बर में लखनऊ में लाठी प्रहार से घायल हुए।
1929 :
  • 30 नवम्बर को नागपुर में अखिल भारतीय मज़दूर संघ कांग्रेस के नागपुर अधिवेशन की अध्यक्षता की।
  • 29 दिसम्बर को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के लाहौर अधिवेशन की अध्यक्षता की जहाँ तिरंगा फहराया गया और ‘पूर्ण स्वराज’ की घोषणा की गई।
1930 :
  • नमक सत्याग्रह में शामिल हुए और 14 अप्रैल को गिरफ्तार किए गए। (11 अक्तूबर को रिहा किए गए।)
  • 19 अक्तूबर को कर-विरोधी आन्दोलन के समर्थन में भाषण देने के कारण गिरफ्तार किए गए।
1931 :
  • 26 जनवरी को रिहा किए गए।
  • 6 फरवरी को मोतीलाल नेहरू का देहावसान।
  • उन्हें इलाहाबाद की नगर सीमाओं से बाहर जाने से रोकने वाले एक नज़रबंदी आदेश को भंग करने के कारण 26 दिसम्बर को गिरफ्तार किया गया। (30 अगस्त, 1933 को रिहा किए गए।)
1934 :
  • जनवरी में बिहार के भूकंप पीड़ितों के लिए राहत व्यवस्था का आयोजन किया।
  • कलकत्ता में दिए गए भाषणों के लिए 12 फरवरी को गिरफ्तार किए गए। (11 अगस्त को पैरोल पर रिहा किए गए।)
  • 23 अगस्त को कारावास में वापस लौटे। ‘विश्व इतिहास की झलक’ का लेखन कार्य पूरा किया।
1935 :
  • अलमोड़ा जेल में अपनी ‘आत्मकथा’ पूरी की। (4 सितम्बर, 1935 को रिहा हुए।)
1936 :
  • 28 फरवरी को लोज़ान, स्विट्ज़रलैंड में कमला नेहरू का निधन।
  • 23 अप्रैल को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के लखनऊ अधिवेशन की अध्यक्षता की।
  • अप्रैल से दिसम्बर तक भारत भर में घूम-घूम कर आम चुनावों के लिए कांग्रेस के उम्मीदवारों के पक्ष में चुनाव-प्रचार किया।
  • 27 दिसम्बर को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के फैज़पुर अधिवेशन की अध्यक्षता की।
1938 :
  • 10 जनवरी को स्वरूपरानी नेहरू का निधन हुआ। स्पेन, फ्रांस, ब्रिटेन और कुछ अन्य यूरोपीय देशों का दौरा किया।
  • राष्ट्रीय योजना समिति के अध्यक्ष बने। ‘द नेशनल हेरल्ड’ अखबार शुरू किया।
1939 :
  • श्रीलंका और चीन का दौरा किया।
  • द्वितीय विश्व युद्ध पर कांग्रेस के प्रस्ताव का प्रारूप तैयार किया।
1940 :
  • वैयक्तिक सत्याग्रह आन्दोलन के दूसरे सत्याग्रही चुने गए।
  • गोरखपुर में दिए गए भाषणों के लिए 31 अक्तूबर को गिरफ्तार किए गए। (4 दिसम्बर 1941 को रिहा किए गए।)
1942 :
  • मार्च-अप्रैल में सर स्टेफोर्ड क्रिप्स के साथ समझौता-वार्ता की।
  • 7 अगस्त को अखिल-भारतीय कांग्रेस समिति में ‘भारत छोड़ो’ प्रस्ताव पेश किया। 9 अगस्त को गिरफ्तार कर लिए गए।
1945 :
  • 15 जून को रिहा किए गए। 25 जून से 14 जुलाई तक शिमला सम्मेलन में कांग्रेस का प्रतिनिधित्व किया। चुनावों में कांग्रेस के उम्मीदवारों के लिए प्रचार किया। नवम्बर में इंडियन नेशनल आर्मी ऑफिसर्स के मुकदमे में बचाव पक्ष के वकील के रूप में प्रस्तुत हुए। उपाध्यक्ष, इंडियन सेंटर ऑफ द पी.ई.एन.। दिसम्बर में ऑल इंडिया स्टेट्स पीपल्स कॉन्फ्रेंस के अध्यक्ष चुने गए।
1946 :
  • मार्च में दक्षिण-पूर्व एशिया का दौरा किया।
  • अप्रैल से जून तक ब्रिटिश कैबिनेट मिशन के सदस्यों के साथ अप्रैल-जून वार्ता की।
  • मई में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष चुने गए। (सितम्बर में त्यागपत्र दिया।)
  • कश्मीर दौरा, गिरफ्तारी और फिर रिहाई। अहमदनगर किले में कारावास के दौरान ‘डिस्कवरी ऑफ इंडिया’ का लेखन पूर्ण किया।
  • 2 सितम्बर को अन्तरिम सरकार का गठन किया गया जिसमें नेहरू को वायसराय की कार्यकारी परिषद का उपाध्यक्ष और विदेशी मामलों तथा राष्ट्रमंडल सम्बंध सदस्य बनाया गया।
  • 13 दिसम्बर को संविधान सभा में ‘उद्देश्यों सम्बंधी प्रस्ताव’ पेश किया।
1947 :
  • 23 मार्च को नई दिल्ली में एशिया सम्बंध सम्मेलन का उद्घाटन किया।
  • 3 जून को बटवारे के प्रस्तावों को स्वीकार करते हुए राष्ट्र को सम्बोधन का प्रसारण।
  • 15 अगस्त को स्वतंत्र भारत के प्रथम प्रधानमंत्री बने। अपना एक प्रसिद्ध भाषण ‘नियति से मुलाकात’ दिया।
1948 :
  • 30 जनवरी को महात्मा गाँधी की मृत्यु हुई।
  • अक्तूबर में लंदन में राष्ट्रमंडल के प्रधानमंत्रियों के सम्मेलन में भाग लिया।
  • 3 नवम्बर को पेरिस में संयुक्त राष्ट्र संघ की महासभा के विशेष सत्र को सम्बोधित किया।
1949 :
  • 20 जनवरी को इंडोनेशिया पर हॉलैंड के आक्रमण का विरोध करने के लिए आयोजित अठारह राष्ट्रों के सम्मेलन का उद्घाटन किया।
  • अक्तूबर-नवम्बर में अमेरिका और कनाडा की पहली यात्रा की।
1950 :
  • 26 जनवरी को भारत एक गणतांत्रिक देश बन गया।
  • मार्च में योजना आयोग के अध्यक्ष बने। (मृत्यु पर्यंत इस पद पर रहे।)
1951 :
  • भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष चुने गए। (1954 तक इस पद पर बने रहे।)
1952 :
  • पहले आम चुनावों के बाद मई में नई सरकार का गठन किया।
  • 2 अक्तूबर को सामुदायिक विकास कार्यक्रम प्रारम्भ किया।
1953 :
  • नई दिल्ली में मुख्य मत्रियों के सम्मेलन का आयोजन।
  • दिसम्बर में राज्य पुनर्गठन आयोग का गठन किया।
1954 :
  • चाउ एन-लाइ भारत यात्रा पर आए। भारत तथा चीन के प्रधानमंत्रियों का संयुक्त घोषणापत्र जारी किया, जिसमें दोनों देशों के बीच सम्बंधों को विनियमित करने के लिए पाँच सिद्धान्तों (पंचशील) का उल्लेख किया गया था।
1955 :
  • जनवरी में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अवदी अधिवेशन में ‘समाज के समाजवादी स्वरूप’ सम्बंधी प्रस्ताव प्रस्तुत किया।
  • 15-25 अप्रैल तक बांडुंग में अफ्रीकी-एशियाई सम्मेलन का आयोजन।
  • ‘भारत रत्न’ से सम्मानित किए गए।
1956 :
  • 17-18 जुलाई को ब्रियोनी में मिस्र के राष्ट्रपति नासेर और यूगोस्लाविया के राष्ट्रपति टीटो के साथ सम्मेलन में भाग लिया।
  • इंडोनेशिया, बर्मा, सीलोन और भारत के प्रधानमंत्रियों का सम्मेलन, नई दिल्ली, नवम्बर।
1957 :
  • दूसरे आम चुनावों के बाद नई सरकार का गठन किया।
1959 :
  • जनवरी में नागपुर में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अधिवेशन में सहकारी कृषि और खाद्यान्नों के सरकारी क्रय-बिक्री सम्बंधी प्रस्ताव का समर्थन किया।
1960 :
  • 3 अक्तूबर को न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र संघ की महासभा को सम्बोधित किया।
1961 :
  • गुटनिरपेक्ष राष्ट्रों का सम्मेलन, बेल्ग्रेड, सितम्बर।
1962 :
  • तीसरे आम चुनावों के बाद नई सरकार का गठन किया।
  • जून में राष्ट्रीय एकता परिषद की अध्यक्षता की।
  • चीन के आक्रमण के बाद 26 अक्तूबर को भारत के राष्ट्रपति द्वारा आपात् स्थिति की घोषणा की गई।
1963 :
  • ‘कामराज योजना’ के अन्तर्गत कांग्रेस पार्टी का पुनर्गठन करने के लिए मंत्रियों ने अपने पदों का त्याग किया।
1964 :
  • 27 मई को नई दिल्ली में मृत्यु। यमुना नदी के किनारे जिस स्थान पर दाह संस्कार किया गया उसे अब ‘शांति वन’ कहा जाता है।